From  
To  

आगरा मेट्रो रूट

आगरा मेट्रो एक तेज यातायात प्रणाली है, जो भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर को सेवा प्रदान करती है। वर्तमान में आगरा मेट्रो नेटवर्क में कुल 6 मेट्रो स्टेशन एक्टिव हैं। आइये आगरा मेट्रो के बारे में और जानकारी प्राप्त करें जैसे मेट्रो लाइनें, ट्रेन शुरू कब होती है, ट्रेन समाप्त कब होती है, रूट मैप क्या है, शहर में मेट्रो स्टेशनों के आसपास मुख्य आकर्षण क्या हैँ, किराया सूचि तथा मेट्रो समाचार इत्यादि।

मेट्रो ऑपरेटरUttar Pradesh Metro Rail Corporation
ऑपरेशन शुरू06 March 2024
लाइनों की संख्या2 मेट्रो लाइन
ट्रेन की लंबाई3 डिब्बे
स्टेशनों की संख्या6 सक्रिय स्टेशन
मेट्रो का समय⏱ शुरुआत | समाप्ति
06:00 AM | 10:00 PM

आगरा मेट्रो लाइन्स (टर्मिनल स्टेशन)

मेट्रो लाइन्सटर्मिनल स्टेशन
पीली लाइनताज ईस्ट गेट मनः कामेश्वर
नीली लाइन

आगरा मेट्रो किराया चार्ट 2024

स्टेशन की संख्यामेट्रो किराया (₹)स्मार्ट कार्ड किराया (₹)
1 स्टेशन109
1-2 स्टेशन1513.50
3-6 स्टेशन2018
7-9 स्टेशन3027
10-13 स्टेशन4036
14-17 स्टेशन5045
18 स्टेशन से ज्यादा6054

नोट:

  • उपरोक्त किराया चार्ट आधिकारिक नहीं है, लेकिन नीचे दिए गए लिंक पर किराए के अवलोकन पर आधारित है:
  • https://www.lmrcl.com/project/dpr-of-agra-metro/
  • स्टोर वैल्यू कार्ड का उपयोग करने पर 10% की छूट है।

आगरा मेट्रो से जुड़े रोचक तथ्य

  • आगरा की मेट्रो ट्रेनों में रीजेनरेटिव ब्रेकिंग की सुविधा होगी, जिसकी मदद से ट्रेनों में लगने वाले ब्रेक से पैदा होने वाली 35 फीसदी तक ऊर्जा दोबारा जेनरेट होकर सिस्टम में इस्तेमाल हो सकेगी।
  • वायु प्रदूषण को कम करने के लिए इन ट्रेनों में अत्याधुनिक प्रॉपल्सन प्रणाली भी मौजूद होगी।
  • इन ट्रेनों में कार्बन-डाइऑक्साइड सेंसर आधारित एयर कंडीशनिंग सिस्टम होगा, जो ट्रेन में मौजूद यात्रियों की संख्या के अनुसार संचालित होगा और ऊर्जा की बचत करेगा।
  • स्वचालित ट्रेन परिचालन को ध्यान में रखते हुए ये ट्रेनें संचार आधारित ट्रेन नियंत्रण प्रणाली के साथ चलेंगी।
  • आगरा मेट्रो ट्रेन की यात्री क्षमता 974 लोगों की होगी।
  • इन ट्रेनों की डिज़ाइन गति 90 किमी/घंटा और परिचालन गति 80 किमी/घंटा तक होगी।
  • ट्रेन के पहले और आखिरी कोच में व्हीलचेयर के लिए अलग-अलग जगह होगी।
  • व्हीलचेयर स्थान के पास एक "लॉन्ग स्टॉप रिक्वेस्ट बटन" होगा, जिसे दबाकर दिव्यांगजन ट्रेन ऑपरेटर को दरवाजा अधिक समय तक खुला रखने के लिए सूचित कर सकते हैं।
  • ट्रेनों में अग्निशमन यंत्र, स्मोक डिटेक्टर और सीसीटीवी कैमरे आदि लगाए जाएंगे।
  • आगरा मेट्रो ट्रेनों को तीसरी रेल यानी पटरियों के समानांतर चलने वाली तीसरी रेल से बिजली मिलेगी, इसलिए खंभे और तार लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
  • प्रत्येक ट्रेन में 24 सीसीटीवी कैमरे होंगे, जिनकी वीडियो फीड सीधे ट्रेन ऑपरेटर और डिपो में केंद्रीय सुरक्षा कक्ष तक पहुंच जाएगी।
  • इस ट्रेन में आपातकालीन स्थिति में टॉक बैक बटन दबाकर यात्री ट्रेन ऑपरेटर से बात कर सकते हैं। यात्री की लोकेशन और सीसीटीवी फुटेज सीधे ट्रेन ऑपरेटर के पास मॉनिटर पर प्रदर्शित होंगे।

आगरा मेट्रो का अवलोकन और इतिहास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 6 मार्च 2024 को पीली मेट्रो लाइन के ताज पूर्वी मेट्रो स्टेशन से मनकामेश्वर मेट्रो स्टेशन तक के रूट का उद्घाटन किया जिसमें कुल 6 मेट्रो स्टेशन शामिल हैं। उत्तर प्रदेश की आगरा मेट्रो की कुल लंबाई 29.65 किमी (चरण -1) है, जिसमें से केवल 6 किमी मेट्रो को उद्घाटन किया गया है। अभी आगरा मेट्रो के 21 स्टेशन का कार्य निर्माणधीन है। आगरा मेट्रो के चरण 1 के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) राइट्स द्वारा सावधानीपूर्वक तैयार की गई थी और आधिकारिक तौर पर 30 जून, 2016 को अनुमोदन के लिए उत्तर प्रदेश राज्य सरकार को प्रस्तुत की गई थी। परियोजना की शुरुआत को सुविधाजनक बनाने के प्रयास में, उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (यूपीएमआरसीएल) को 2017 में समन्वय निकाय के रूप में नियुक्त किया गया था, जिसे इस प्रयास में शामिल सभी प्रासंगिक हितधारकों को एक साथ लाने का काम सौंपा गया था।

आगरा मेट्रो रेल परियोजना एक नजर

  • मेट्रो परियोजना की कुल लागत 8,379 करोड़ रुपए
  • मेट्रो के 30 किलोमीटर लंबे दो कॉरिडोर होंगे
  • मेट्रो में कुल 27 स्टेशन बनेंगे, जिसमें 20 एलिवेटेड और 7 भूमिगत होंगे
  • प्रथम कॉरिडोर 14 किमी ताज ईस्ट गेट से सिकंदरा तक
  • द्वितीय कॉरिडोर 16 किमी आगरा कैंट स्टेशन से कालिंदी विहार तक

आगरा मेट्रो का निर्माण कार्य और प्रगति:

  • फरवरी 2019 में इस प्रोजेक्ट को केंद्र सरकार की कैबिनेट से मंजूरी मिल गई. इसके बाद जुलाई 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने इसके निर्माण की अनुमति इस शर्त के साथ दी कि UPMRCL (उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड) 11 निर्दिष्ट शर्तों का सख्ती से पालन करेगी।
  • 7 दिसंबर, 2020 को, चरण 1 के शुरुआती 4 किमी खंड पर निर्माण शुरू हुआ, विशेष रूप से ताज ईस्ट गेट से ताज महल रैंप तक, जिसका उद्घाटन प्रधान मंत्री ने दूरस्थ माध्यम से किया था।
  • परियोजना का प्राथमिक गलियारा 7 किमी तक फैला है और इसमें जामा मस्जिद और ताज ईस्ट गेट को जोड़ने वाले छह स्टेशन (तीन भूमिगत और तीन ऊंचे) शामिल हैं।
  • चरण 1 का पूरा कार्य 2026 में खत्म होने का अनुमान है। परियोजना को योगदान के संयोजन के माध्यम से वित्त पोषित किया जा रहा है। भारत सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार, दोनों पक्ष समान इक्विटी साझा करते हैं।
  • इसके अतिरिक्त, यूरोपीय निवेश बैंक (ईआईबी) से लगभग 450 मिलियन यूरो (लगभग 4860 करोड़ रुपये के बराबर) का ऋण, जिसे दिसंबर 2021 में मंजूरी दी गई थी, भी परियोजना के वित्तपोषण में योगदान देगा।

आगरा मेट्रो खासियत:

  • मेट्रो में 973 यात्री कर सकेंगे सफर
  • बेहतरीन ब्रेक सिस्टम, जिससे बिजली बनेगी
  • कोच में 25 सीसीटीवी और डिस्प्ले बोर्ड
  • पब्लिक एड्रेस सिस्टम से लैस
  • मेट्रो का संचालन पीएसी डिपो में बने कंट्रोल रूम से होगा
  • आगरा मेट्रो स्टेशन में स्थानीय शिल्प कला
  • स्टेशन पर बनाए गए हैं सेल्फी प्वाइंट
  • एक स्टेशन पर 28 सीसीटीवी कैमरे
  • सभी मेट्रो की सुरक्षा उत्तर प्रदेश स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स (यूपी एसएसएफ) के पास
  • यूपी एसएसएफ के करीब 150 जवानों की तैनात

आगरा मेट्रो की ताजा खबर

2024-02-20
मीडिया खबरों के अनुसार फरवरी माह के आखिरी दिनों में पीएम मोदी आगरा मेट्रो का उद्घाटन कर सकते हैं। इससे पहले ही यहां जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन का नाम बदल दिया गया है। अब इसका नाम मनकामेश्वर स्टेशन रखा गया है। आगरा के लोगों ने योगी सरकार और यूपीएमआरसी से इसके लिए मांग की थी।
2024-01-04
आगरा मेट्रो का प्राथमिकता कॉरिडोर अगस्त 2024 में मूल रूप से निर्धारित तिथि से छह महीने पहले फरवरी 2024 तक परिचालन शुरू करने की संभावना है। पिछले साल फरवरी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा टनल बोरिंग मशीन का उद्घाटन करने के बाद 11 महीने के रिकॉर्ड समय में टनल का काम पूरा हो गया है। फरवरी 2023 में, सीएम आदित्यनाथ ने 6 किमी प्राथमिकता वाले गलियारे की 3 किमी लंबी सुरंग बनाने के लिए दो सुरंग बोरिंग मशीन (टीबीएम) - यमुना और गंगा - चालू की थी।
2023-12-18
Jagran
उप्र मेट्रो रेल कारपोरेशन (यूपीएमआरसी) की टीम मेट्रो से चूहों और दीमक को बचाने के लिए खास इंतजाम करेगी। इन्हें मारने की सुपारी दी जाएगी। मेट्रो में सिर्फ पानी और कोल्ड ड्रिंक्स ही साथ लेकर चलने की अनुमति दी जाएगी। अगर यात्री कोच में पिज्जा या फिर बर्गर खाते हुए पकड़े जाते हैं तो पहली बार में यात्रियों को चेतावनी दी जाएगी फिर आगे की कार्रवाई होगी।
2023-12-11
Jagran
आगरा मेट्रो के भूमिगत मेट्रो ट्रैक के दायरे में आने वाले 100 सबमर्सिबल और हैंडपंप बंद होने जा रहे हैं। उप्र मेट्रो रेल कारपोरेशन (यूपीएमआरसी) की टीम पाइप को उखाड़कर संबंधित भवन स्वामी या फिर विभाग को सौंप देगी। टीम ने इसकी जानकारी नगर निगम और जलकल विभाग के अधिकारियों को भेज दी है। शहर में मेट्रो ट्रैक तीस किमी लंबा होगा। सिकंदरा तिराहा से टीडीआइ माल तक पहला कारिडोर 14 किमी लंबा होगा। इसमें साढ़े सात किमी भूमिगत ट्रैक होगा।
2023-09-10
आगरा के फतेहाबाद रोड पर मेट्रो लाइन के खंभे पर 8 दिनों से फंसी बिल्ली को रविवार को एनजीओ की टीम ने मेट्रो के कर्मचारियों के साथ मिलकर बचा लिया। इसके लिए बचाव कर्मियों को 30 घंटे तक मशक्कत करनी पड़ी। माना जा रहा है कि भोजन की तलाश में बिल्ली मेट्रो लाइन के खंभे पर पहुंचकर फंस गई होगी।

आगरा मेट्रो समाचार और अपडेट पढ़ें..

Views: 5628